November 2014


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 171
Online Hindi Crossword Puzzle
1   2   3   4   5
               
                6
7       8
              9    
  10 11          
12     13    
                 
14   15       16
        17 18      
                19
20        



दाएँ से बाएँ
2. अगला भाग, अग्रभाग, अग्र भाग, अगाड़ी, अगाड़ू, अगारी; किसी वस्तु आदि के आगे का भाग
5. बछड़ा, बछवा, बाछा, बछेरु, लवारा, बच्छा, , वत्स, तर्ण, अवेद्य; गाय का नर बच्चा
7. अमर, अक्षय, अनश्वर, शाश्वत, नित्य, अक्षुण्ण, अक्षुण, अक्षर, अनष्ट, अक्षय्य, अच्युत, अनाश, अनाश्य, अनाशवान, अमरणीय, अनाशी, अयोनि, अरिष्ट, अविनश्वर, विभु, अव्यय, अमृताक्षर, अभंग, अभङ्ग, अभंगुर, अभङ्गुर, अखय, अक्षुण्य, अखै, अनपायी, अनपाय, अविगत, अविहड़, अविहर; जिसका कभी नाश न हो या सदा बना रहनेवाला;
8. शूद्र, अंत्यज, अन्त्यज, पादज, वृषल, मार्जारीय, मार्जालीय, अंतेवासी, अन्तेवासी; हिन्दुओं के चार वर्णों में से चौथे और अंतिम वर्ण का व्यक्ति, अस्पृश्य, अपरस, छुतिहा; जिसे छूना ठीक न हो या जो स्पर्श करने के योग्य न हो
10. जाड़ा, शीत काल, सरदी, सर्दी, हिम ऋतु, ठंड, ठन्ड, शीतऋतु, शीतकाल, अघम, शीत-ऋतु, तुषारकाल, ठंढ; जाड़े का मौसम
12. सुबह, भोर, प्रभात काल, प्रातःकाल, प्रात, प्रभात, प्रातः, तड़का, अरुणोदय, विहान, उषा, उषाकाल, उषा-काल, भीन, निशांत, निशावसान, दिवसमुख, निशात्यय, अनुदित, रात्रिविग, स्त्रीघोष, निशातिक्रम, निशोत्सर्ग, अरुण, अरुन, अरुणा, व्युष्ट, प्रत्युष, प्रत्यूष, व्युष्टि, अहर्मुख, व्युष, उखा, फ़जर, फजर, फ़ज्र, फज्र; दिन निकलने का समय
13. आजानुबाहु, महाभुज; जिसके बाहु जानु तक लंबे हों या घुटने तक लंबे हाथवाला
14. जनक, राजा जनक, विदेह, मैथिल, निमिराज, मिथि, मिथिल; मिथिला के राजा और सीता के पिता;
16. दिखावटी, बनावटी, नकली, नक़ली, बनौवा, कृत्रिम, छद्म, अप्रकृत, अयाथार्थिक, अस्वाभाविक, आहार्य्य; जो केवल रूप-रंग, आकार-प्रकार आदि के विचार से दिखाने के लिए हो
17. सूर्योदय के पहले का समय जब थोड़ा-बहुत अंधेरा रहता है
20. सुखी, ख़ुशहाल, खुशहाल, सुखभरा, सुखिया, खुशाल; जो सब प्रकार के सुखों से परिपूर्ण हो

ऊपर से नीचे
1. नश्वर, अशाश्वत, क्षणजीवी, क्षयशील, नाशवान, भंगुर, विनाशी, अनित्य, मिटने वाला, मिटनेवाला, नाशुक, अनित, अपायी, अवक्षीण, अवर्धमान, अवर्द्धमान, आगमापायी; जो नष्ट हो जाए;
2. झोपड़ी, झोपड़ा, झोंपड़ा, झोंपड़ी, झुग्गी-झोपड़ी, झुग्गी, झुग्गा, झुगिया, मड़ई, मड़ैया, मड़ाई, मढ़ई, मढ़ा, मढ़ी, , आशियाँ, ओबरी; मिट्टी या घासफूस आदि का बना छोटा घर
3. हाथ, मुँह पोछने का एक छोटा कपड़ा जो प्रायः खाने की मेज पर रखा जाता है
4. सेमल, सेमर, सेमर वृक्ष, तूलवृक्ष, तूलफला, शाल्मली, सेम्हर, द्रुमकंटिका, द्रुमकण्टिका, शल्मलि, शल्मली, शाल्मलि, दीर्घद्रुम, मतिदा, पूरणी, याम्यद्रुम, रक्तपुष्पक, रक्तपुष्पा, रक्तफल, अहिका, कंटकारी, कण्टकारी; एक बहुत बड़ा वृक्ष जिसमें लाल फूल आते हैं
6. हानि, नुकसान, नुक़सान, क्षति; बुरा या तकलीफ के रूप में होने वाला परिणाम, संकट, रिस्क; संकट या विपत्ति की संभावनावाली स्थिति
7. एक प्रकार का चर्मरोग , अछूत, अस्पृश्य, अस्पर्शनीय, अंतावशायी, अन्तावशायी; वह जिसे छूना नहीं चाहिए या वह जो न छूने योग्य हो
9. धूर्त, कपटी, चालबाज़, चालबाज, चालू, चतुर, फरेबी, फ़रेबी, शातिर, छली, छलिया, चकमेबाज़, चकमेबाज, चार सौ बीस, झाँसेबाज़, झाँसेबाज, झांसेबाज़, झांसेबाज, चार-सौ-बीस, मक्कार, चंट, जालसाज, चालाक, जाल-साज, बकव्रती, शठ, सठ, होशियार, बट्टेबाज, बट्टेबाज़, कुमैड़िया, फरफंदी, वक्रगामी, व्याजमय, द्विभाव, बकमौन, दज्जाल, कितव, कैतव, व्यंसक, पाटविक, उड़ाँत, उड़ांत, प्रतारक; धोखा देने के लिए किसी प्रकार की झूठी कार्रवाई करने वाला
10. ग्रीक पुराण के अनुसार एक देवी जो ज़ीयस की पत्नी और बहन मानी जाती हैं;
11. बैल, वृषभ, रिषभ, अनडुह, बालद, वृषेंद्र, वृषेन्द्र, शाक्कर, शाक्वर, शाद्वल, शिखी, स्कंधिक, स्कन्धिक, पुंगव, उक्षा; गौ जाति का बधिया किया हुआ वह नर चौपाया जो कलों और गाड़ियों में जोता जाता है
13. निषिद्ध, वर्जित, प्रतिबंधित, प्रतिबन्धित, निषेधित, वर्ज्य, मना किया हुआ, व्याहत, वारित, निवारित, आसिद्ध, अवक्तव्य; जिसका निषेध किया गया हो, रूठे हुए को प्रसन्न करना
15. उनञ्चास, ४९, 49, IL; चालीस में नौ जोड़ने से प्राप्त अंक;
16. बनावटी, ऊपरी, बनौवा, घड़ियाली, दिखौआ, आहार्य्य; मन से नहीं पर सिर्फ़ दिखाने के लिए या दिखाने भर का
18. ड्राइव, वाहनीय भ्रमण, वाहनीय सैर; * वाहन से की जानेवाली यात्रा विशेषकर मोटरचालित गाड़ी से; (अंग्रेज़ी शब्द)
19. बच्चों के लिए प्यार का संबोधन


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 170
Online Hindi Crossword Puzzle
1   2     3 4   5
    6      
            7
8 9          
        10    
                11
    12     13    
    14     15    
  16         17  
      18        
  19           20
      21        



दाएँ से बाएँ
1. बर्तन, बरतन, बासन, पात्र, आहड़, धात्र; धातु, शीशे, मिट्टी आदि का वह आधार जिसमें खाने-पीने की चीज़ें बनायी या रखी जाती हैं
3. उपभोग, सेवन, भोग, आभोग, सुख भोग; किसी वस्तु के व्यवहार से सुख या मजा लेने की क्रिया
6. निपुणता, प्रवीणता, क़ाबिलीयत, काबिलीयत, कुशलता, कार्यकुशलता, कौशल, दक्षता, पटुता, प्रावीण्य, नैपुण्य, सुघड़ता, सुघड़ई, सुघड़ाई, सुघड़ापा, सुघरपन, सुघरता, सुघरई, सुघराई, उस्तादी, स्किल, महारत, सिद्धि, विचक्षणता, युक्ति; किसी काम आदि में प्रवीण होने की अवस्था, गुण या भाव
7. उद्दंड, उदंड, उद्दण्ड, उदण्ड, अक्खड़, उच्छृंखल, उच्छृङ्खल, उजड्ड, उज्जट, उज्झड़, उजबक, उछृंखल, बागड़बिल्ला, बरबंड, प्रगल्भ, बंगा; जिसे दंड का भय न हो
8. स्वार्थी, खुदगर्ज, ख़ुदग़र्ज़, खुदपरस्त, स्वार्थपर, अपकाजी, मतलबी, खुदगरज, ख़ुदग़रज़, मतलबिया, मतलबपरस्त, मतलब परस्त, फसलीकौवा, आत्मग्राही; वह जो स्वार्थ से भरा हुआ हो या अपना मतलब निकालनेवाला हो
10. कैलाश, कैलास, रजतप्रस्थ, रजताचल, रजताद्रि, शिवधाम, शिव-धाम, श्वेताद्रि, शंभुगिरि, शम्भुगिरि, शंभुलोक, शम्भुलोक, शिवशैल, शंकरशैल, गणपर्वत, शंकरालय, शंकरावास, कुवेराचल, कुवेराद्रि, भवाचल, अष्टापद; एक पर्वत जो तिब्बत में है और पौराणिक मतानुसार जिस पर भगवान शिव निवास करते हैं
12. प्रतिमान; तौलने के लिए कुछ निश्चित मान का पत्थर,लोहे आदि का टुकड़ा
15. बड़ी डाँड़ी का चम्मच जिससे बटलोई आदि की दाल आदि चलाते या निकालते हैं
16. तकिया, बालिश, बालिस, गेंदुआ, कशिपु, उपधान, शिरहन; रुई आदि से भरा हुआ वह मुँहबंद थैला जो लेटने या सोने के समय सिर आदि के नीचे रखते हैं
17. गबोनीज़, गबुनीज़, गबोनीस, गबुनीस; गाबा से संबंधित या गाबा का
18. मुगल बादशाहों का वह प्रतिनिधि जो किसी प्रदेश के शासन के लिए नियुक्त होता था
19. मगध में बोली जानेवाली भाषा, एक प्रकार का पान
20. आश्चर्य, अचंभा, अजूबा, अचम्भा, अचरज, ताज्जुब, ताज़्जुब, विस्मय, हैरत, अचंभव, अचम्भव, अचंभो, अचम्भो, अचंभौ, अचम्भौ, अद्भुत वस्तु, तअज्जुब, कौतुक, इचरज; आश्चर्य उत्पन्न करने वाली वस्तु
21. बमवर्षा, बमवृष्टि; गोला या बम बरसाने की क्रिया

ऊपर से नीचे
2. साँप, सर्प, अहि, भुजंग, उरंग, व्याल, सारंग, विषधर, पन्नग, अनिलाशी, अपत्यशत्रु, फुनिंग, दीर्घपृष्ठ, विषदंतक, शेव, विषदन्तक, दीर्घरसन, फणधर, विषानन, श्वसनाशन, श्वसनोत्सुक, दृक्कर्ण, द्विरसन, त्सरु, लांगली, भुअंग, भुअंगम, कर्कटी, फणिक, फणी, प्रबलाकी, पुलिरिक, मारुताशन, लेलिहान, प्रवलाकी, लेलिह, आशीविष, आभोग, पवनाशी, पवनाश, पवनाशन, तार्क्ष्य, कुंडली, कुण्डली; सरीसृप वर्ग का एक रेंगने वाला पतला और लंबा जीव जिसकी कई जातियाँ पायी जाती हैं;
3. अहंकार, अहङ्कार, घमंड, घमण्ड, अकड़, अहंकृति, अहङ्कृति, दर्प, अभिमान, अहंता, ग़रूर, ग़ुरूर, गुरूर, गरूर, गुमान, गर्व, मान, दंभ, दम्भ, मद, मगरूरी, ऐंठ, ऐंठन, शेखी, शेख़ी, शान, ठसक, अहं, अहम्मति, अहमिति, अहमेव, खुदी, ख़ुदी, अभिमति, दाप, आन, अवलेपन, अवलेप, गडंग, अवश्याय, अवष्टंभ, अवष्टम्भ, प्रागल्भ्य, कल्क, आटोप, पर्वरीण, गारो; अपने आपको औरों से बहुत अधिक योग्य, समर्थ या बढ़कर समझने का भाव
4. गणेश, गजानन, गणपति, श्रीगणेश, लंबोदर, वक्रतुंड, विनायक, करिवदन, महागणपति, नवनीत-गणप, आंबिकेय, आखुवाहन, एकदंत, एकदन्त, करिबदन, गजमुख, गजवदन, द्विमातुर, गणेश्वर, विघ्नेश, हरिहय, इभानन, गजशीश, गणनाथ, गौरीज, द्वैमातुर, लम्बोदर, वक्रतुण्ड, काममाली, वारणानन, गजकर्ण, हेरंब, हेरम्ब, मंगलारंभ, द्विदेह, वृषकेतन, द्विपास्य, द्विमातृज, सिंधुरवदन, सिन्धुरवदन, नागमुख, मूषकवाहन, अंबिकेय, अम्बिकेय, आम्बिकेय, वज्रतुंड, वज्रतुण्ड, हेरांब, भालचंद्र, भालचन्द्र, विघ्नजीत, विघ्नेश्वर, विघ्ननायक, विघ्ननाशक, विघ्ननाशन, विघ्नपति, विघ्नराज, विघ्नविनायक, हेरुक, पृथ्वीगर्भ, इरेश; हिंदुओं के एक प्रधान एवं अग्रपूज्य देवता जिनका शरीर मनुष्य का और सिर हाथी का होता है
5. प्राचीन भारत में वह बहुत बड़ा योद्धा जिसके अधीन अनेक रथी होते थे
8. छानबीन, छान-बीन, जाँच-पड़ताल, जांच-पड़ताल, जाँच, परिवीक्षा, तहकीकात, जांच, अनुसंधान, अनुसन्धान, तहकीक, तहक़ीक़, तहक़ीकात, तफ्तीश, अवच्छेद, आकलन, पर्येषणा; किसी घटना या विषय के मूल कारणों या रहस्यों का पता लगाने की क्रिया
9. तांबे,टिन और जस्ते के मिश्रण से बनी एक मिश्र धातु;
10. मोर, मयूर, कलापी, शिखंडी, शिखण्डी, केकी, नीलकंठ, नीलकण्ठ, मायूर, घनप्रिय, चंद्रकी, चन्द्रकी, अहिरिपु, बरहा, बरही, मयूक, , शिखालु, शिखावर, शिखावल, शिखि, शिखी, शिखाल, मार्जारक, ताऊस, शुक्लापांग, वृषी, शापटिक, शुक्रभुज, शुक्रांग, मेनाद, वर्षामद, राजसारस, वर्ही, अर्की, प्रवलाकी, अर्जुन, सर्पद्विष, बाहुलग्रीव, पुँछार, दीप्तांग, दीप्ताङ्ग, कुंडली, कुण्डली; एक अत्यंत सुंदर बड़ा पक्षी जिसकी पंखनुमा पूँछ लम्बी होती है
11. एक प्रकार का आभूषण
13. ट्रेन, छुक-छुक गाड़ी, छुक छुक गाड़ी, छुकछुक गाड़ी, लौहपथगामिनी; भाप, डीज़ल या बिजली के इंजन द्वारा लोहे की पटरियों पर चलने वाली गाड़ी
14. एक संकर रागिनी


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 169
Online Hindi Crossword Puzzle
  1   2   3        
            4 5   6
    7          
8 9   10      
    11      
12           13
14     15 16      
      17     18
  19              
        20        
    21 22       23
24   25    



दाएँ से बाएँ
2. एक प्रकार की काँजी
4. स्वाद, लज़्ज़त, लज्जत, रस, मजा, मज़ा, विपाक, आस्वाद; खाने-पीने की चीज़ मुँह में पड़ने पर उससे जीभ को होने वाला अनुभव
8. शलगम, शलजम, पिंडमूल, पिण्डमूल, पिंडमूलक, पिण्डमूलक, शिखाकंद, शिखाकन्द, वृषल, यवनेष्ट; एक पौधा जिसका कंद गोल होता है और खाया जाता है
11. बलराम, दाऊ, बलदाऊ, बलभद्र, हलधर, बल, संकर्षण, प्रियमधु, तालभृत, तालांक, सीरी, अच्युताग्रज, अहीश, एककुंडल, कामपाल, कूटहंता, कूटहन्ता, तालकेतु, मधुप्रिय, रेवतीरमण, रेवतीश, सीताधर, सौनंदी, सौनन्दी, बकवैरी, वज्रदेह, संवर्त्त, लांगली, प्रपाली, बकबैरी, यमुनाभिद्; कृष्ण के बड़े भाई जो रोहिणी के पुत्र थे
13. कनेर, कणेर, कुंद, कुन्द, कनैल, रंगारि, रङ्गारि, पिंडबीजक, पिण्डबीजक, शितिकुंभ, शितिकुम्भ, वेणुककर, शातकुंभ, शातकुम्भ, सिद्धपुष्प, करबीर, स्थल-कुमुद, करेणु, अर्जुन, रक्तपुष्प, शतप्रास, अश्वमार, अश्वरोधक, भृंगबंधु; एक मझोले आकार का वृक्ष
14. लवणीय, लवणयुक्त, खारा, सलोना, नोना, लोनिया; नमक मिला हुआ या नमक के स्वादवाला, वह पकवान जिसमें नमक मिला होता है
15. धनहर; जिसमें धान की फसल अच्छी होती हो
17. जमशेदपुर शहर, टाटानगर शहर; झारखंड राज्य का एक औद्योगिक नगर
21. माँगा, आयाचित, अभियाचित, अभ्यर्थित, अर्थित, अर्दित, वनित; माँगा हुआ
23. दुःख, दुख, खेद, अफ़सोस, अफसोस, क्षोभ, रंज, अनुताप, दिलगीरी, मलोला, अलम, वत, आज़ुर्दगी, आमनस्य, ताम, ऊर्मि; किसी उचित, आवश्यक या प्रिय बात के न होने पर मन में होनेवाला दुख
24. निस्सार, निःसार, खोखला, थोथा, निसार, साररहित, सारहीन, निस्तत्व, निस्तत्त्व, असत्व, घोंघा, तत्वशून्य; सार रहित या जिसमें कोई काम की बात या वस्तु न हो
25. मधुशाला, मद्यशाला, शराब घर, शराबघर, मयख़ाना, शराबख़ाना, पानागार, शराबखाना, मयखाना, सुरागार, बार, आपान; शराब खरीद कर पीने का स्थान

ऊपर से नीचे
1. सर्व सहमति, सर्वसहमति, सर्व सम्मति, सर्वसम्मति, आम राय, आम सहमति, मतैक्य, ऐकमत्य, अवैमत्य, एकवाक्यता; ऐसी स्थिति जिसमें उपस्थित या संबद्ध सभी लोग किसी एक बात या विचार से सहमत हों
3. रोग, बीमारी, व्याधि, मर्ज, मर्ज़, विकृति, दोषिक, अपाटव, अभिरोध, इल्लत, अम, अमस, अमीव, अमीवा, उपघात, दू, आमय, आरजा, आरज़ा, डिज़ीज़, डिजीज; शरीर, मन आदि को अस्वस्थ करने वाली असामान्य अवस्था;
5. अत्यंत क्षारीय, नमकीन पानी युक्त समुद्र
6. छलहीन, निष्कपट, निःकपट, रिजु, ऋजु, दयानतदार, सच्चा, अपैशुन, सत्यपर, नयशील, ईमानी; चित्त में सद्वृत्ति या अच्छी नीयत रखने वाला, चोरी या छल-कपट न करने वाला
7. टेसू के फूलों से निकाला हुआ रंग
9. विलाप करना, कलपना, बिलखना, विलापना, रोना-धोना; शोक आदि के समय रोकर दुख प्रकट करना
10. सांसारिक दुःख और कष्ट
12. इंसानियत, इन्सानियत, इनसानियत, मनुष्यता, मानुषिकता, मनुष्यत्व, आदमियत, मनुजता, मनुसाई; मनुष्य होने की अवस्था या भाव
13. महरा, महर; पानी भरने या डोली ढोने का काम करने वाला व्यक्ति
16. वह धन जो रुपया-पैसा, सिक्का आदि के रूप में हो
18. निष्कपटता, छलहीनता, निश्छलता, कपटहीनता, सरलता, सीधापन, भोलापन, सादगी, ऋजुता, आर्जव, साधुता; निष्कपट होने की अवस्था या भाव
19. अंधकार, अँधेरा, अंधेरा, अन्धकार, अन्धियारा, अन्धेरा, तम, तमस, तिमिर, अँधेरी, अंधेरी, अन्धेरी, अधेलिका, अँधेरिया, तामस, झाँई, नभाक, अप्रकाश, ध्वांत, ध्वान्त, शाबर, नभोरजस, मेचक, दाज, निद्रावृक्ष, नीलपंक, नीलपङ्क, आँध, अंधार, अन्धार, अंध, अन्ध, अंधेरिया, तमिस्र, ताम, तारीकी; प्रकाश का अभाव
20. तोतला, तुतला, तोतरा, तोतर; अस्पष्ट बोलनेवाला व्यक्ति
22. अज्ञानता, अज्ञान, ज्ञानहीनता, मूढ़ता, अंधकार, अन्धकार, जिहालत, अज्ञानपन, जहल, मोह, अप्रत्यक्षा, अयानप, अयानपन, अवित्ति, अविवेक, अविवेकता, अविवेकत्व, अजानता; ज्ञान न होने की अवस्था या भाव


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 168
Online Hindi Crossword Puzzle
1     2   3   4
    5        
                 
6                  
  7   8  
               
9     10   11 12    
      13       14
    15   16
17 18              
          19      
  20   21



दाएँ से बाएँ
1. तृणकुंकुम, दीर्घनाल, भूतिक, पौर, रोइँसा; एक प्रकार की घास जिसमें से तेल निकाला जाता है
3. सौ वर्ष की आयुवाला
4. ढेर, अंबार, अंबर, अम्बार, अम्बर, राशि, गंज, जखीरा, अटंबर, अटाला, अटाल, अटम, चय, कूट, अमार, प्रसर, संभार, सम्भार, संश्लिष्ट; एक जैसी वस्तुओं का कुछ ऊँचा समूह;
5. एक प्रकार का पौधा
7. शतपुत्री; एक प्रकार की तरोई
8. मौखिक, वाचिक, मुँहअखरी, आस्य; मुख, वाणी या उच्चारण से संबंध रखने वाला
9. दक्षिण भारत के एक विद्वान टीकाकार जिनकी मृत्यु तेरह सौ सतासी में हुई
11. प्रतिबंधक, प्रतिबन्धक; बाधा या अड़चन उत्पन्न करने वाला व्यक्ति
13. लाभ, नफा, फ़ायदा, फायदा, निपजी, आमिष, बरकत, रिटर्न, प्रॉफिट, प्राफिट, योग, जोग; व्यापार, काम आदि में होने वाला मुनाफ़ा;
15. उत्पीड़न, अत्याचार, प्रताड़ना, प्रताड़न, पीड़न, अर्दन, दलन, प्रमाथ, अवघात, अवमर्दन, प्रमथन; कष्ट देने की क्रिया
16. सामान्य आदमी की ऊँचाई का
17. चस्का, चसका, आदत, शौक; किसी काम या बात से मिलने वाले सुख के कारण बार-बार वैसा ही सुख पाने के लिए मन में होनेवाली लालसापूर्ण प्रवृत्ति
20. अयोग्य, नालायक, ना-लायक, अनलायक, कुपात्र, अपात्र, अनधिकारी, अलायक, अयोग, अयथा, अयुक्त, अनर्ह, अपारग, अप्रभु, अयुक्तरूप, असमर्थ; जो योग्य न हो या जिसमें पात्रता न हो;
21. हनुमान, पवनपुत्र, पवनसुत, पवनकुमार, बजरंग बली, महावीर, महाबीर, अंजनीनंदन, आँजनेय, आंजनेय, कपीश, बजरंग, अनिलकुमार, हरीश, वातात्मज, अंजनासुत, अंजनी नंदन, अनिलात्मज, आनिल, कपीन्द्र, कपींद्र, कपीस, केसरीनन्दन, पवन तनय, मारुति, हनुमंत, हनुमन्त, हनुमत, वातजात, योगचर, हनू, वातपुत्र, वज्रकंकट, प्रभंजन-सुत, प्रभञ्जन-सुत, मारुतात्मज, लाँगड़ो, ईरज; पवन के पुत्र जो बहुत ही बलशाली और अमर माने जाते हैं

ऊपर से नीचे
2. कायरता, बुज़दिली, भीरुता, भीरुताई; कायर होने की अवस्था या भाव
3. जयंती, जयनी, जयन्ती; देवाधिपति इन्द्र की पुत्री
4. जो पूजा करने के योग्य हो
6. मोटर बाइक, बाइक, मोबाइक, फटफटी, फटफटिया; पेट्रोल, डीजल आदि से चलने वाला दुपहिया वाहन जिसके पहिये स्कूटर की अपेक्षा बड़े होते हैं;
7. सत्त्व, रज व तम इन तीनों गुणों से युक्त
10. औरताना, स्त्रैण, स्त्री-सम्बन्धी, स्त्री-संबंधी, स्त्री संबंधी; औरत या स्त्री संबंधी या स्त्री का
12. कलात्मक, कलापूर्ण; जो कला से पूर्ण हो
13. लचीला, लचकदार, नम्य, नमनीय, विनम्य, सुनम्य, नार्मिन, लचर, नरम, नर्म; जो दबाने या मोड़ने पर कुछ या अधिक दब, झुक या मुड़ जाता हो तथा दबाव हटाने पर फिर अपनी सामान्य स्थिति में आ जाता हो
14. विवुधवन, मलय, नंदिका, नन्दिका; इंद्र देवता की वाटिका
18. काँप, कर्णपूर, तरन, तटंक, संदोल, सन्दोल, कर्णिका, पत्रवेष्ट, तरी, तरिवन, अवतंस, अवतन्स, तार; कान का एक गहना
19. यूरोप और एशिया में फैला हुआ एक बड़ा देश


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 167
Online Hindi Crossword Puzzle
  1     2  
          3           4
      5       6  
7              
    8   9   10
              11
    12   13        
  14     15   16    
              17
      18    
               
    19   20    



दाएँ से बाएँ
1. अंबराई, अँबराई, अमरैया, अम्बराई, अंबराव, अम्बराव, आमवारी, आमवाड़ी, आमवानी, अमराव; आम का बाग
2. शिक्षा, अनुदेश, बात; हित की बात बतलाने,अच्छी बात या अच्छा काम करने के लिए कहने का कार्य
5. रसीद, प्राप्तिका, प्राप्ति पत्र, रिसीट, रीसीट; किसी से रुपए लेने पर उसके प्रमाण के रूप में दिया जाने वाला लिखा हुआ पत्र
7. विरल, अघन, असंघनित; जो सघन न हो
8. समिति, पैनल, पेनल, कमीशन, कमिशन; किसी विशेष कार्य के लिए बनी हुई सभा, लोगों का औपचारिक दल या संगठन
9. चावल, चाँवल, धान्यसार; एक अन्न जो भूसी उतारा हुआ धान है
11. एक द्रविड़ भाषा जो बहुत ही प्राचीन काल से दक्षिण भारत और श्रीलंका में तमिलों द्वारा बोली जाती है
13. एक सुगन्धित गेंदनुमा फूल जो विशेषकर पीले रंग का होता है
14. अनुकरण, अनुसरण, अनुगमन, नक़ल, नकल, अनुक्रिया, अनुगति, अनुगम, अनुवर्तन, अनुसृति, अनुहरण; देखा-देखी किया जानेवाला कार्य
18. सभा, गोष्ठी, समिति, कमेटी, कमिटी, असोसिएशन, समज्या; लोगों का औपचारिक दल या संगठन
19. लकड़ी छीलने व काटने का एक औजार
20. सैनिक शिविर, कंपू, शिविर, पड़ाव, विक्षेप, अवस्कंद, अवस्कन्द; सैनिकों के रहने का स्थान

ऊपर से नीचे
3. शताब्दी, सदी, शतक; सौ वर्ष का समय
4. नाविक; * किसी जहाज के नाविक दल का सदस्य, कार्यबल,
5. पना, पन्ना, प्रपानक; एक तरह का शर्बत जो आम, इमली आदि से बनता है
6. असावधानी, लापरवाही, बेपरवाही, असावधानता, अचेतपना, सावधानीहीनता, चित्तविक्षेप, अलगरजी, अनवधान, अनवधानता, अनाचिती, अमनोनिवेश, अमनोयोग, अवहेलना, अवहेलन, अवहेला; असावधान रहने की अवस्था या भाव
7. अफ़ग़ानिस्तान का या वहाँ के निवासी, भाषा, संस्कृति इत्यादि से संबंधित
9. धागा, तागा, सूत, डोरा, डोर, सूता, सूत्र, तंत्र, तन्त्र; रुई, रेशम आदि का वह लंबा रूप जो बटने से तैयार होता है
10. दोलक, पेंडुलम, पेन्डुलम; एक उपकरण जिसमें एक वस्तु इस प्रकार लगी होती है कि वह गुरुत्वाकर्षण के प्रभाव में स्वतंत्र रूप से झूल सके
12. आपण, हाट, पैंठ, पैठ, स्टोर; वह मानव निर्मित स्थान जहाँ बिक्री की चीज़ें रहती और बिकती हैं या पैसा लेकर कोई काम किया जाता है
14. समान गुण वाला
15. पत्रवाहक, पत्र-वाहक, पत्रवाह, हरकारा, आह्वायक; वह जो पत्र आदि किसी के यहाँ पहुँचाता है;
16. पूरा पेट भर
17. घोड़ों की वह दौड़ जिसके लिए हार-जीत की बाज़ी लगती है
18. अठन्नी, आठ आना, धेली; पचास पैसे का सिक्का


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 166
Online Hindi Crossword Puzzle
        1 2   3   4
5            
      6       7  
8         9
      10    
                11  
  12   13     14    
  15     16      
  17   18   19 20
      21          
        22    
23         24



दाएँ से बाएँ
1. प्रार्थित, अर्थित; निवेदन किया हुआ
5. कई हजार
7. मिल्कियत, मिलकियत; जमींदार की वह भूमि जिसका वह अधिकारी हो
8. अनाच्छादन; किसी वस्तु,बात आदि पर से आवरण हटाने की क्रिया
10. रसोइया, रसोईदार, महाराज, महराज, खानसामा, पाकुक, पाकु, वल्लव, रसपाचक, आरालिक, पाचक, कुक; दूसरे के यहाँ रसोई बनाने वाला व्यक्ति
13. शीतल पेय, ठंडा पेय, ठंडा, ठण्डा पेय, ठण्डा, वह पेय पदार्थ जो ठंडा हो या बर्फ आदि डालकर ठंडा बनाया हुआ पेय, शांत, शान्त, गंभीर, गम्भीर, सौम्य, संजीदा, अचंचल, अचपल, स्थिर, ठंडा, गहबर, अनवगाह, अनवगाह्य, अनुद्धत; जो चंचल न हो
15. कौशिकी; नेपाल में हिमालय क्षेत्र से निकलने वाली एक नदी जो कभी सूखती नहीं
17. शीश, मुंड, मुण्ड, मुंडक, मुण्डक, मूँड़ी, शीर्ष, मूँड़, मूड़ी, मूड़, शेखर; शरीर में गर्दन से आगे या ऊपर का वह गोलाकार भाग जिसमें आँख, कान, नाक, मुँह, आदि अंग होते हैं, और जिसके अंदर मस्तिष्क रहता है
18. रंगहीन, बेरंग, वर्णहीन, अवर्ण, विवर्ण, वर्णशून्य, अबरन, अबरनीय, अवरण, रङ्गहीन, निरङ्ग, बेरङ्ग; जिसमें रंग न हो या जिसका कोई रंग न हो
19. पश्चिमी पाकिस्तान के सीमावर्ती क्षेत्र में रहने वाले किसी कबीले का आदमी
22. जल का प्रवाह
23. रंगमंडप
24. युवक, युवा, तरुण, तलुन, मुटियार, वयोधा; सोलह से पैंतीस वर्ष तक की अवस्था का पुरुष, सेना या फौज में रहकर लड़ने वाला

ऊपर से नीचे
2. आचारवान्, आचारवान, आचारी, अनवर, नसतालीक, नसतालीक़, प्रश्रयी, सलीकेमंद, सलीक़ेमंद, सलीकेमन्द, सलीक़ेमन्द, सलीकामंद, सलीकामन्द, सलीक़ामंद, सलीक़ामन्द, अशराफ, अशराफ़, तहज़ीबयाफ़्ता, तहज़ीब-याफ़्ता, तहजीब-याफ्ता; उच्च आचार-विचार रखने और भले आदमियों का-सा व्यवहार करने वाला
3. अपराध संबंधित मुकदमा, वह न्यायालय जहाँ आपराधिक मामलों की सुनवाई होती है
4. मोढ़ा, स्कंध, स्कन्ध, मुड्ढा, अंस, अंश; शरीर का वह भाग जो गले और बाहुमूल के बीच में होता है
6. तीन लड़ों को गूँथकर बनाया हुआ जो दिखने में खजूर के पत्ते की तरह दिखाई देती है (चोटी)
8. शिष्य, चेला, शागिर्द, मुरीद, चट्टा, चटिया, अंतसद्, अन्तसद्; वह जिसे किसी ने कुछ पढ़ाया या सिखाया हो या जो किसी से सीख या पढ़ रहा हो
9. पाखंडी, आडंबरी, आडम्बरी, ढकोसलेबाज़, धर्मध्वज, बगला-भगत, बगला भगत, बगुला-भगत, बगुला भगत, पाषंडी, पाषण्डी, पाखण्डी, पाषंड, पाषण्ड, ध्वजिक; धर्म का आडम्बर खड़ा करके स्वार्थ साधनेवाला मनुष्य
11. परजातीय, भिन्न जातीय, विजाति, असवर्ण, असजातीय; जो दूसरी जाति का हो
12. चतुष्कोण, चौखूँटा, चौखूँट; चार कोनों वाला, वह आकृति जिसमें चार कोने हों
14. पीला धतूरा, भड़भाड़, रक्ता; एक प्रकार का काँटेदार पौधा
16. कलौंजी, कलोंजी, मंगरैल, मंगरैला, मंगरौल, करायल, काला जीरा, वृहज्जीरक, पतिंबरा, पतिम्बरा, मनोज्ञा; काले रंग का एक बीज जो मसाले के रूप में प्रयुक्त होता है
20. लीबिया में रहनेवाला व्यक्ति
21. कमल ककड़ी, कमल मूल, कमलककड़ी, कमलमूल, कमलकंद, मुरार, कमल कन्द, भिस्स, भिस्सा, मृणाल, नलनीरुह, नलिनीरुह, तंतुर, तंतुल, शालिनी, शिफाक, शिफाकंद, पद्मकंद, पद्मकन्द, शिफाकन्द, पौष्कर, शिफा; कमल का मूल जो पतले लम्बे डंठल के रूप में होता है


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 165
Online Hindi Crossword Puzzle
    1         2 3
4 5   6        
          7   8   9
10      
        11  
12            
        13   14
    15 16        
    17           18   19
20       21  
             
  22   23  



दाएँ से बाएँ
2. नखरीला, नख़रेबाज़, नाज़दार, नाजदार; बहुत नखरा करनेवाला व्यक्ति
4. संगीत में एक राग
6. ऊँटनी, उष्ट्रिका, उष्ट्री, करभी; मादा ऊँट; अँग्रेजी साल का पाँचवाँ महीना
10. भूमध्य-रेखा, ध्रुवरेखा; भूगोल में पृथ्वी तल का ठीक मध्य सूचित करनेवाली एक कल्पित रेखा जो दोनों ध्रुवों से बराबर दूरी पर पड़ती है
11. अनुचित, असंगत, विसंगत, गलत, ग़लत, अनुपयुक्त, बेजा, अयथार्थ, अयथोचित, असमीचीन, अवैध, अयाथार्थिक, अलीन, अविहित; जो संगत या उचित न हो
12. अंधरात्रि, अन्धरात्रि, तमिस्रा, तामसी, दाज ; ऐसी रात जिसमें चारों तरफ़ अँधेरा छाया रहता है या चंद्रमा की रोशनी नहीं होती
14. इटली वाषियों की भाषा या इटली की भाषा से संबंधित, इटली का निवासी
15. पलक, पल, पपोटा, नेत्रच्छद, वाज, चषचोल; आँख के ऊपर का चमड़े का परदा जिसके गिरने से वह बंद होती है
21. जिससे लाभ हो या जो लाभ देने वाला हो, उपकार करने वाला व्यक्ति
22. पाकेटमारी, पाकेट मारने का काम
23. पाण्डु, प्राचीन काल के एक राजा

ऊपर से नीचे
1. लबालब, आपूर, पूरित, मामूर; जितना अधिक से अधिक समाया जा सकता हो उतना समाया हुआ
3. विद्रोही, बलवाई, गद्दार, ग़द्दार; वह जो विद्रोह करता हो
5. कपोलगेंदुवा; गाल के नीचे रखने का गोल,छोटा और कोमल तकिया
6. मदिरालय, मधुशाला, मद्यशाला, शराब घर, शराबघर, शराबख़ाना, पानागार, शराबखाना, सुरागार, बार, आपान; शराब खरीद कर पीने का स्थान
7. नाइट्रेट का बना एक प्रध्वंशक
8. बहुत शान-शौकत और अमीरी ढंग से रहनेवाला;, एक उपाधि जो मुसलमान अमीरों को अँग्रेजी सरकार की ओर से मिलती थी जिसे वे अपने नाम के साथ लगाते थे
9. सजीवों का पर्यावरण के बदलाव के अनुसार स्वयं को उसके अनुकूल करने या बनाने की क्रिया या भाव
12. गोद, गोदी, क्रोड़, छाती, सीना, वक्षस्थल, खड़े हुए मनुष्य के वक्षस्थल और कमर के बीच का वह स्थान जिस पर बच्चों को बैठाकर हाथ के घेरे से सँभाला जाता है
13. नाव की मस्तूल में बँधी हुई मूँज की रस्सी
16. सर्किट, ; एक विद्युतीय साधन जो विद्युत-धारा को प्रवाहित होने के लिए मार्ग देता या बनाता है
17. एक प्रकार का बाज जो आकार में बड़ा होता है
18. प्रसाधन, सौन्दर्य प्रसाधन, प्रसाधन-सामग्री, शृंगार या सजावट का सामान
19. स्वर्णिम
20. विश्वासघात, ग़द्दारी, गद्दारी, बेवफ़ाई, बेवफाई, अपघात, बददियानती; अपने पर विश्वास करनेवाले के विश्वास के विपरीत किया जानेवाला कार्य


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 164
Online Hindi Crossword Puzzle
  1         2          
3 4     5   6  
      7    
8   9       10  
11          
        12 13  
      14        
      15       16
      17 18    
  19           20   21
             
22     23



दाएँ से बाएँ
3. एक रेडियोएक्टिव तत्व जिसकी परमाणु संख्या बानवे है
7. जलमंजोर, पिही, पिह, मीवा; तीतर के आकार का एक जलपक्षी
10. योद्धा, सिपाही, योधा, जोधा, आयुधी, वीर, सूरमा, संग्रामी, शस्त्रजीवी, आयुधजीवी, रणकारी, जंगावर, योध, योधक, युयुधान, सामंत, सामन्त, योधी, योधेय, यौधेय, बाष्कल, प्रहर्ता, विक्रांत, विक्रान्त; वह जो युद्ध करता हो
11. शहर का रूप लेने या शहर में बदलने की क्रिया
12. कैरीबियन सागर में स्थित एक द्वीप
14. अभिहति, आहति, हनन; एक संख्या को दूसरी संख्या से गुणा करने की क्रिया
16. फसल, फ़सल, उपज, शस्य, निपजी; खेत में उपजा हुआ अन्न आदि जो अभी पौधे में ही लगा हो
17. कृपासिंधु, कृपानिधि, कृपायतन; बहुत दयालु व्यक्ति
22. एक उपकरण जिसकी सहायता से मसूड़े को चीरकर मवाद आदि निकालते हैं
23. एक प्रकार का खंभा जिस पर चढ़ और उतरकर कई प्रकार की कसरतें की जाती हैं

ऊपर से नीचे
1. सन का मोटा रस्सा
2. सुड़कने की क्रिया
4. मज़दूरी करनेवाली स्त्री
5. एक प्रकार की बढ़िया चिकनी चटाई
6. शंखधवना, शङ्खधवना, प्रहसंती, प्रहसन्ती, पुष्पगंधा, पुष्पगन्धा; एक तरह का सफेद सुगंधित फूल
8. मान-सर; हिमालय के उत्तर में स्थित एक प्राकृतिक झील
9. दैहिक, जिस्मानी, कायिक, देहीय; शरीर या उसके अंगों से संबंधित
13. अमराई, अमरई, अंबराई, अँबराई, अमरैया, अम्बराई, अंबराव, अम्बराव, आमवारी, आमवाड़ी, अमराव; आम का बाग;
15. अदवाइन, उंचन, उञ्चन, औनचन, उनचन, उदवान, उँचन, अवसक्थिका; चारपाई के पैताने की बुनावट को खींचकर तनी रखने के लिए उसके छेदों में पड़ी हुई रस्सी
16. पाँव, टाँग, टांग, पग, गोड़, टँगड़ी, पाद, लात, पद, नलकिनी, पौ; वह अंग जिससे प्राणी खड़े होते और चलते-फिरते हैं
18. भागीदारी, हिस्सेदारी, साझा, भागिता, शरीकत, शराकत, शिरकत, इजमाल, पार्टनरशिप, इश्तिराक, इश्तराक, इशतिराक, इशतराक; दो या दो से अधिक लोगों के साझेदार होने की अवस्था या भाव
19. जो विधिपूर्वक किसी संस्था के द्वारा स्वीकृत किया जा चुका हो या जिसका पारण हो चुका हो
20. ई पत्र; पूरी दुनिया में फैली विद्युतीय संप्रेषण व्यवस्था के माध्यम से संगणक तंत्रों के प्रयोगकर्ताओं द्वारा अपने विचारों आदि का आदान-प्रदान
21. एक उपनिषद् , बकुले की तरह का एक पक्षी ; राम की सेना का एक बंदर


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 163
Online Hindi Crossword Puzzle
          1     2   3
  4 5     6    
7       8      
9          
    10         11 12
          13     14  
  15        
        16   17    
    18          
19             20
21   22        
                23



दाएँ से बाएँ
1. रूई या सूत का बटा हुआ लम्बा लच्छा जो दीपक में रखकर जलाते हैं
4. याम्य; यम का दूत
9. घनिष्ठता, अंतरंगता, अति प्रियता, निकटता, सामीप्य, सान्निध्य, सानिध्य, सन्निध, नज़दीकी, नजदीकी, संसर्ग, अज़ीज़ी, गठौत, गठौती, अजीज, संसृष्ट, हेल; किसी के बहुत समीप होने की अवस्था या भाव
11. अंग्रेजी वर्ष का छठवाँ महीना जो तीस दिन का होता है
15. पोस्ट ऑफिस; वह सरकारी दफ़्तर जहाँ से लोग चिट्ठी-पत्री आदि भेजते हैं
20. अनुसंधान, गवेषणा, अनुसन्धान, अन्वीक्षण, अन्वेषण, अन्वेषणा, खोज, रिसर्च, रीसर्च; किसी विषय का अच्छी तरह अनुशीलन करके उसके संबंध में नई बातों या तथ्यों का पता लगाने की क्रिया
21. एक प्रकार का बड़ा जाल
22. विषघाती, विषनाशन, सुपुष्प, सुपुष्पक, सरिस, विषहंता, विषहन्ता, वृत्तपुष्प, वृद्धधूप, शुक, शुकतरु, अंधुल, अन्धुल; एक प्रकार का ऊँचा वृक्ष जो शीशम के समान होता है
23. शंसा, तारीफ़, तारीफ, सराहना, बड़ाई, प्रशस्ति, दाद, , अभिनंदन, अभिनन्दन, शाबाशी, स्तुति, अभिवादन, अभिवंदन, अभिवन्दन, अस्तुति, प्रस्तुति, मनीषा, शस्ति, शंस, व्युष्टिटट, श्लाघा, आशंसा, ईडा, पालि; किसी वस्तु, व्यक्ति, आदि या उनके गुणों या अच्छी बातों के संबंध में कही हुई आदरसूचक बात

ऊपर से नीचे
2. अदक्ष, अनिपुण, अधकचरा, अनाप्त, अनारी, अनैपुण, अपटु, अपाटव, अपात्र, अल्हड़, अविज्ञ, अशिक्षित; जो प्रवीण न हो
3. कटार, कृपाण, अध्रियामणी, कंकण; प्रायः एक बित्ते का दुधारा हथियार
5. किसी देश का प्रधान शासक और स्वामी
6. वह कल्पित बिंदु जो आकाश की ओर देखनेवाले के पैरों के ठीक नीचे माना जाता है
7. सिनेमा या पत्र-पत्रिका आदि के वितरण पर लगाई जानेवाली रोक
8. सम्प्रदाय, संप्रदाय, मत, पाषंड, पाषण्ड, शाखा, पन्थ, मार्ग; कोई विशेष धार्मिक मत या प्रणाली
10. बंदूक, तोप आदि से गोली, गोले आदि छोड़ने की क्रिया
12. नशेड़ी, नशाख़ोर, नशाखोर, अमली, कैफी, क़ैफ़ी; जो नित्य नशा करता हो या नशे के लिए कुछ नशीले पदार्थों का सेवन करता हो
13. एक प्रकार का पौधा, दाँतों से कुचलकर खाना
14. उर्वर, जरखेज, ज़रख़ेज़, सरजीवन; जिसमें अच्छी उपज हो या जिसमें फसलें अच्छी तरह उपजती हों
15. एक प्रकार की चुड़ैल
16. मिशन का वह सदस्य जो ईसाई धर्म के प्रचार के लिए अनेक जगहों पर जाता है
17. वह जो शुभ या अच्छा हो
18. विवाह, बियाह, ब्याह, परिणय, आवाह, शादी-ब्याह, शादी ब्याह, शादी-विवाह, शादी विवाह, मैरिज; वह धार्मिक या सामाजिक कृत्य या प्रक्रिया जिसके अनुसार स्त्री और पुरुष में पत्नी और पति का संबंध स्थापित होता है
19. वह चिपटी मुँगरी जिससे गच पीट कर उसका मसाला अच्छी तरह अपने स्थान पर जमाया जाता है

 

--

पहेली का हल देखने के लिए नीचे दिए गए Newer Posts लिंक पर क्लिक करें


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 162
Online Hindi Crossword Puzzle
      1   2   3   4 5
  6          
          7  
8         9  
        10   11
12                
        13 14      
  15                
        16   17  
18         19  
          20    
21   22          


संकेत
दाएँ से बाएँ
2. वह कील या काँटा जिसके अगले नुकीले भाग पर कील की आधी लंबाई तक गड़ारियाँ बनी होती हैं, कुश्ती में विपक्षी को हराने या दबाने के लिए काम में लाई जानेवाली युक्ति
4. अंभोज, अम्भोज, कंबु, कम्बु, कंबुक, कम्बुक, अंबुज, अम्बुज, शंबुक, शम्बुक, शंबूक, शम्बूक, संबुक, सम्बुक, सूचिकामुख, पूत, चंद्रबंधु, चन्द्रबन्धु, सिंधुज, सिन्धुज, सिंधुपुष्प, सिन्धुपुष्प, दैवारिप, अर्णभव; एक प्रकार का बड़ा घोंघा जिसका कोष पवित्र माना जाता है और देवताओं के आगे बजाया जाता है
6. जो हरे पेड़-पौधों से भरा हुआ हो, बसा हुआ, बसा, अध्युष्ट, अबाद, अबादान; जहाँ पर वास हो या जहाँ कोई रहता हो, हरा भरा; आनंद और शोभा से युक्त
7. अनार का फूल
8. भाषांतरकार, अनुवाद कर्ता, उल्थाकार, अनुवादी, मुतरज्जिम; वह जो अनुवाद करता हो
10. विशेषकर चीन में पाई जानेवाली एक लता का रोएँदार फल, शुतुरमुर्ग की जाति का एक पक्षी
11. सद्योजात, नवप्रसूत, नव-प्रसूत; जिसने अभी या कुछ ही समय पहले जन्म लिया हो
12. गढ़ना, बनाना, आकार देना, रूप देना, सरजना, सिरजना, सृजन करना; काट-छाँटकर या और किसी प्रकार काम की चीज़ बनाना
13. मंतव्य, मन्तव्य, विचार; कोई काम करने के लिए मन में होनेवाला ख़याल
16. अफ़सर होने की अवस्था या भाव
18. भय,उद्वेग आदि से हृदय की गति तीव्र होने की क्रिया
19. राब, पकाकर गाढ़ा किया हुआ गन्ने का रस
20. मेहँदी, रंजक, रक्तगर्भा; एक झाड़ी जिसकी पत्तियों को पीसकर हथेली आदि पर लगाते हैं
21. छाज, सूपड़ा, शूर्प; अनाज फटकने का सींकों आदि का बना एक उपकरण
22. गरीबी, निर्धनता, दरिद्रता, दीनता, दैन्य, ग़रीबी, विपन्नता, दारिद्रय, कंगाली, कंगालपन, रंकता, तंगहाली, तंगदस्ती, क्षुद्रता, मुफ़लिसी, मुफलिसी, अनैश्वर्य, मिसकीनी, मिसकीनता, कालकर्णिका, बेकसी, अभाव, अभूति, विधनता, अवित्ति, दरिद्राण, अकिंचनता; गरीब या निर्धन होने की अवस्था या भाव

ऊपर से नीचे
1. अयोध्या के पास, उत्तर प्रदेश का एक शहर
3. बेहोश, मूर्च्छित, मूर्छित, अचेत, चेतनाशून्य, बेसुध, अचेतन, चेतनारहित, ज्ञानशून्य, संज्ञाशून्य, संज्ञाहीन, निश्चेष्ट, अचेष्ट, अचैतन्य, बेख़बर, बेखबर, अनचित, अनचित्ता, गाफिल, ग़ाफ़िल, अविचेतन, निसस, संज्ञारहित, संवेदनाशून्य, विचेतन; जिसे होश न हो;
5. सब्जी वाला, सब्जीवाला, सब्ज़ी वाला, सब्ज़ी विक्रेता, सब्जी विक्रेता; वह जो सब्ज़ी बेचता हो
8. अकुशल, अशुभकारी, अनभीष्ट, अहितकारी, अहितकर, अशुभ; जो कल्याण करनेवाला न हो
9. अलंकरणीय, अभ्यंजनीय, अभ्यञ्जनीय, आराइशी; सजावट के काम आनेवाला
14. द्वाविंशति, २२, 22, XXI, कारण, वजह, सबब, जड़, हेतु, निमित्त, मूल, बहाना, कारक, अर्थ, युक्ति, इल्लत, भव; वह जिसके प्रभाव से या फलस्वरूप कोई काम हो
15. मक्कारी, चार सौ बीसी, कूटता, फर्जीवाड़ा, ठगी, छलावा, चालबाज़ी, चालबाजी, जालसाजी, प्रपंच, परपंच, प्रपञ्च, बकमौन, बकमौनता, दुराव, परपञ्च, चालाकी, कपट, छल-कपट, फ्रॉड, फ्राड, कारिस्तानी, कारस्तानी, धूर्तता, शठता, वंचकता, फरेब, फेर-बदल, फेर-फार, फेरफार, झाँई-झप्पा, छल-छंद, धंधला, वंचना, प्रतारणा, अनभोरी, अनुपधा, अभिसंधान, अभिसन्धान, झाँई, उपधा, व्याज, कैतव, कुमैड़, पटेबाज़ी, पटेबाजी, काट, झपकी, योग, जोग; वह काम जो किसी को धोखे में डाल कर कोई स्वार्थ साधने के लिए किया जाए
16. एक रागिनी, एक प्रकार का सूती या रेशमी कपड़ा
17. सुरक्षित, महफूज़; जो ऐसी स्थिति में हो कि उसकी कोई हानि न हो सके

--

पहेली का हल अगली पोस्ट पर देखने के लिए नीचे दिए गए Newer Posts लिंक पर क्लिक करें


ऑनलाइन वर्गपहेली क्रमांक - 161
Online Hindi Crossword Puzzle 161
1       2   3 4
      5 6        
    7          
8          
            9 10
11     12 13      
              14
  15 16   17  
      18        
  19         20  
21              
      22   23



संकेत (Clue) :
दाएँ से बाएँ
1. कसोरा, सकोरा, सिकोरा, वर्द्धमान, वर्धमान, वर्द्धमानक, वर्धमानक; मिट्टी का बना एक छोटा, कटोरे की तरह का बर्तन;
3. किसी वस्तु, बात आदि पर विचार न करने की क्रिया या भाव
5. काल के मान की दृष्टि से घटना, बात आदि का वर्तमान से होते हुए भूत में जाना
8. गाजरघास
9. लांछित, कलंकित, कलुषित, दाग़ी, दागी, आक्षिप्त; जिसे लांछन या कलंक लगा हो
12. तुषारकण, हेमकण, हिम-कण, तुषार-कण, हेम-कण, अवश्याय; तुषार या पाले के बहुत छोटे-छोटे कण
15. अपितृ, अपितृक; जिसके पिता न हों
17. दुर्गम, दुर्गम्य, कठिन, विकट, बीहड़, अगम्य, अगम, असुगम, अनागम्य, अगत, गहबर, बंक, वंक; जो गम्य न हो या जो जाने योग्य न हो, गंभीर, पेचदार, पेंचदार, पेचीदा, पेचीला, अवगाह, अवरेबदार, औरेबदार, अवरेबी, औरेबी; जिसमें बहुत हेर-फेर या पेंच हो और जो इसलिए जल्दी समझ में न आये
18. तुरंत निकाला हुआ, हाल ही का, जो म्लान या कुम्हलाया न हो
20. अनुसार, मुताबिक, मुताबिक़, अनुकूल, मुताबिक़, हिसाब, अप्रतीष; के मत से या की दृष्टि से
21. आँगन, आंगन, अंगन, अँगना, अंगना, प्रांगण, चौक, सहन, अँगनई, अँगनैया, अँगनाई, अंगनई, अंगनाई, अजिर; घर के बीच का खुला भाग
22. अभिवादन करने वाला
23. धातु का विशेषकर एक गोल बाजा जिस पर हथौड़े आदि से वार करने पर आवाज़ निकलती है

ऊपर से नीचे
2. दूत, संदेशी, संदेशहर, सन्देशवाहक, ख़बरी, खबरी, सन्देशी, सन्देशहर, संदेसी, सन्देसी, संदेशहारक, संदेशहारी, संवाददाता, सम्वाददाता, वार्तावह; किसी का संदेश लाने या ले जानेवाला व्यक्ति
3. समर्थक, पक्षधर, हिमायती, तरफ़दार, तरफदार, बाँहियाँ; वह जो किसी पक्ष या किसी सिद्धांत आदि का समर्थन या पोषण करे
4. नट जाति की स्त्री
6. तपिया, तपी, त्यागी, तपावंत, तपावन्त; तपस्या करनेवाला;
7. अगौरवता, निस्तेजता; गौरवहीन होने की अवस्था या भाव
10. लालिमा लिए हुए
11. हलाहल विष, सिंधुविष, सिन्धुविष; वह प्रचंड विष जो समुद्रमन्थन के समय समुद्र से निकला था, एक बहुत विषैला सर्प
13. गौरव, बड़प्पन, महिमा, श्रेष्ठता, गौरवपूर्णता, प्रभुता, प्रभुत्व, बड़ाई, महत्त्व, महत्व, गुरुत्व, गुरुता, वर्चस्व, अज़मत, अजमत, बिरद, अधिकाई, तशरीफ़, तशरीफ, ईशिता, ईशित्व, विभूति, बुज़ुर्गी, बुजुर्गी; महान होने की अवस्था या भाव;
14. दादागिरी, बदमाशी, गुंडापन, लुच्चागिरी, लुच्चापन, लुच्चई, गुंडागीरी, लुच्चागीरी; व्यर्थ में किसी से लड़ने-झगड़ने या मारपीट करने की क्रिया
16. सिख पंथ में, धर्म-विरोधी कार्य करनेवाला घोषित अपराधी
19. पैबंद, चकती, थिगड़ा; कपड़े,चमड़े आदि का छेद बंद करने के लिए ऊपर से लगाया जानेवाला टुकड़ा
20. उचित, उपयुक्त, ठीक, सही, मुनासिब, वाजिब, योग्य, लायक, लायक़, ऐन, रास, प्रशस्त, ज़ेबा, जेबा, मौजूँ, मौजूं, मौज़ूँ, मौज़ू, अर्ह; जैसा होना चाहिए वैसा

--

पहेली का हल देखने के लिए नीचे दिए गए Newer Posts लिंक को क्लिक करें.


160
ऑनलाइन हिंदी वर्ग पहेली online hindi crossword puzzle 160
          1 2      
                3  
      4          
          5  
  6          
              7  
        8       9
10       11
        12  
               
                 
        13          



संकेत (Clue):
दाएँ से बाएँ

1. वर्तमान, मौजूदा, आज का, अद्यतन, अर्वाचीन, अप्राचीन, अपुरातन, अधुनातन, अपूर्वकालीन, अकालातीत, इदानीतन, अपुराण, सांप्रतिक, साम्प्रतिक; जिस पर इस समय की बातों या विशेषताओं की पूरी छाप हो
5. आयरलैंड की भाषा, आयरलैंड का निवासी, आयरलैंड से संबंधित
6. निरालस, निरालस्य, अनलस, अनलसित, जिसमे आलस्य न हो;
7. सहायता पानेवाला
8. शुरुआती, शुरुवाती, प्राथमिक, प्रारंभिक, आरंभी, आरम्भी, पूर्व, प्रारम्भिक, आदि, आदिम, आद्य, इब्तिदाई; आरंभ का या पहले का या किसी समय या घटना आदि के आरम्भ के समय का
10. उचक्का, हथलपका, उड़चक, चाई, चाईं, अभिहर, अभिहर्ता; आँख बचाकर चीज उठाकर ले भागने वाला व्यक्ति
11. काश्तकार, अधिवासीकृषक, अधिवासी-कृषक; जमींदार से लगान पर खेत जोतने के लिए लेने वाला व्यक्ति या वह किसान जिसने ज़मींदार से कुछ वार्षिक कर पर खेती का स्वत्व प्राप्त किया हो, शिकार, वह जिसे लाभ आदि के उद्देश्य से फंसाया जाए
12. पूजित, उपासित, अर्चित, अपचायित, अंजित, अरचित, अर्हित, ऋत; जिसकी पूजा की जाती हो या पूजा की गई हो
13. काँटेदार, कंटकयुक्त, कांटेदार, कंटकित, कँटकी; जिसमें काँटा हो;

ऊपर से नीचे
1. निराधार, बेबुनियाद, बे-बुनियाद, तथ्यहीन, अप्रामाणिक, सारहीन, निर्मूल, यथार्थहीन, अनाधार, आधाररहित; जिसमें कोई सच्चाई या यथार्थता न हो या जो प्रमाणों से सिद्ध न किया जा सके
2. कम, थोड़ा, जरा, ज़रा, अल्प, न्यून, तनि, तनिक, कमतर, कुछ, लेश, आंशिक, अनति, अप्रचुर, अबहु, ऊन, तोष, अभूयिष्ट, अभूरि, बारीक, बारीक़, अलप, गाध, अलीक, मनाक, मनाग, ईषत्, ईषत, ईषद्, ईषद, इखद; जो मात्रा में कम हो
3. गगनचुंबी, गगनभेदी, गगनस्पर्शी, उत्तुंग, आसमान-खोंचा, आसमान खोंचा; इतना ऊँचा जो आकाश को चूमता या छूता जान पड़े
4. कृपण, अनुदार, क्षुद्र, सूम, सोम, कदर्य, रंक, तंगदस्त, तंगदिल, मत्सर, रेप, अवदान्य, करमट्ठा, कुमुद, चीमड़; जो धन का भोग या व्यय न करे और न ही किसी को दे
7. एकावली, इकटा, इकलड़ा; एक लड़ी का; दुबला-पतला (शरीर)
8. पूजिता, जिसकी पूजा की गई हो (स्त्रीवाचक)
9. घटिया, निकृष्ट, नीच, ओछा, छिछोरा, तुच्छ, बाज़ारू, बाज़ारी, बज़ारू, बाजारू, बाजारी, बजारू, बजारी, भोंडा, भौंड़ा, अधम, क्षुद्र, हलका, हल्का, टुच्चा, अनसठ, म्लेच्छ, सस्ता, हेय, हीन, सड़ियल, संकीर्ण, सिफला, सिफ़ला, ऊन, अरजल, वराक, अरम, अवद्य, अवस्तु, अश्लाघनीय, अश्लाघ्य, पोच, इत्वर; बिल्कुल निम्न या निकृष्ट कोटि का
10. अर्चित, अपचायित, अंजित, अरचित, अर्हित, ऋत; जिसकी पूजा की जाती हो या पूजा की गई हो;
11. हिंसक, हिंस्र, हिंस्रक, खूँखार, खूँख़ार, खूंखार, खूंख़ार, खूंख़्वार, खूंख्वार, ख़ूनखोर, ख़ूनख़्वार, खूनखोर, खूनख्वार, घातक, नृशंस, जालिम, ज़ालिम, बर्बर, तुम्र, अंतावसायी, अन्तावसायी, तोश, घातकी, चुटीला; जो हिंसा करता हो;
12. आगामी, भावी, अगला, अगत्तर, आइन्दा, अयातपूर्व, आइंदा, आयंदा, आयन्दा, आगम, आगिल; आगे आने वाला या उससे संबंधित

 

पहेली का हल नीचे दिए गए Newer Posts पर क्लिक कर देखें


159
ऑनलाइन वर्गपहेली online hindi crossword puzzle
                    1  
            2  
                     
          3 4    
      5        
    6         7  
  8          
9       10 11  
                 
  12          
          13    
                   




संकेत (clue) :

दाएँ से बाएँ 
2. अप्रधान, अप्रमुख, आनुषङ्गिक, गौण, अमुख्य; जो प्रधान न हो
3. ऐसे कार्यों या बातों से संबंध रखनेवाला जिसकी गणना अपराधों में हो और जिसके लिए न्यायालय से दंड मिल सकता हो
5. आवेदी; वह जिसने आवेदन किया हो
7. अबलक, अबलख; सफेद तथा काला या सफेद तथा लाल रंग का
8. उपकार कर्ता; उपकार करने वाला व्यक्ति
9. व्रत, अभोजन, लंघन, लङ्घन; वह व्रत जिसमें भोजन नहीं किया जाता
10. विदेश से बिक्री के लिए माल मँगाने वाला व्यक्ति
12. अवयस्क, नाबालिग़, अल्पवयस्क, अप्रौढ़, अल्हड़, नाबालिग, अप्राप्तयौवन, अप्राप्तव्यवहार; जो वयस्क न हो
13. उपयोगी, अर्थकर; जो काम का हो

ऊपर से नीचे
1. १, 1, I, हेक, इंदु, इन्दु; इकाइयों में सबसे छोटी और पहली पूरी संख्या या इसको दर्शाने वाला अंक
2. आरोप लगाने वाला, पेड़-पौधों का आरोपण करने वाला
3. सामान्य आदमी की ऊँचाई का
4. बदनसीब, अभागा, बदकिस्मत, बदक़िस्मत, भाग्यहीन, दुर्भाग्यशाली, मंदभाग्य, दईमारा, मनहूस, निगोड़ा, अधन्य, अभागी, अल्पभाग्य, निर्भाग, मन्दभाग्य, अहर्ष; जो भाग्यशाली न हो
6. इतरेतर; जो परस्पर हो या आपस का हो
8. आराधक, भक्त, पूजक, पुजारी, पुजैया, पुजेरी, आराधी, अराधी, अवराधक, आराध्यमान; उपासना या पूजा करने वाला
10. आराम देने वाला
11. दुर्बल, निर्बल, शक्तिहीन, अशक्त, बलहीन, अतुंद, अतुन्द, अपुष्ट, अप्रबल, लचर, अबर, अब्बर, अबरा, निबल, अबल, बोदा, बोद्दा, अल्पबल, अवर, अविक्रांत, अविक्रान्त, तुनक, अवीर, अवीर्य, असक्त, अशक्य, नि-जोर, नीबर, नीसक; जिसमें बल या शक्ति न हो
13. उचाना, उकसाना, उगसाना; नीचे से ऊपर लाना

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget